Eak Aadmi Ne Narad Muni Se Puchha!> अक्षय कुमार ने एक गुरूप बनाया // कुछ बचपन की यादें 

‬: एक आदमी ने नारदमुनि से पूछा मेरे भाग्य में 

कितना धन है…

:

नारदमुनि ने कहा – भगवान विष्णु से पूछकर कल बताऊंगा…

:

नारदमुनि ने कहा- 1 रुपया रोज तुम्हारे भाग्य में है…

:

आदमी बहुत खुश रहने लगा…

उसकी जरूरते 1 रूपये में पूरी हो जाती थी…

:

एक दिन उसके मित्र ने कहा में तुम्हारे सादगी जीवन और खुश देखकर बहुत प्रभावित हुआ हूं और अपनी बहन की शादी तुमसे करना चाहता हूँ…

:

आदमी ने कहा मेरी कमाई 1 रुपया रोज की है इसको ध्यान में रखना…

इसी में से ही गुजर बसर करना पड़ेगा तुम्हारी बहन को…

:

मित्र ने कहा कोई बात नहीं मुझे रिश्ता मंजूर है…

:

अगले दिन से उस आदमी की कमाई 11 रुपया हो गई…

:

उसने नारदमुनि को बुलाया की हे मुनिवर मेरे भाग्य में 1 रूपया लिखा है फिर 11 रुपये क्यो मिल रहे है…??

:

नारदमुनि ने कहा – तुम्हारा किसी से रिश्ता या सगाई हुई है क्या…??

:

हाँ हुई है…

:

तो यह तुमको 10 रुपये उसके भाग्य के मिल रहे है…

इसको जोड़ना शुरू करो तुम्हारे विवाह में काम आएंगे…

:

एक दिन उसकी पत्नी गर्भवती हुई और उसकी कमाई 31 रूपये होने लगी…

:

फिर उसने नारदमुनि को बुलाया और कहा है मुनिवर मेरी और मेरी पत्नी के भाग्य के 11 रूपये मिल रहे थे लेकिन अभी 31 रूपये क्यों मिल रहे है…

क्या मै कोई अपराध कर रहा हूँ…??

:

मुनिवर ने कहा- यह तेरे बच्चे के भाग्य के 20 रुपये मिल रहे है…

:

हर मनुष्य को उसका प्रारब्ध (भाग्य) मिलता है…

किसके भाग्य से घर में धन दौलत आती है हमको नहीं पता…

:

लेकिन मनुष्य अहंकार करता है कि मैने बनाया,,,मैंने कमाया,,,

मेरा है,,,

मै कमा रहा हूँ,,, मेरी वजह से हो रहा है…

:

हे प्राणी तुझे नहीं पता तू किसके भाग्य का खा कमा रहा है…।।अगर अच्छा लगे तो आगे बढ़ने दो।

 अक्षय कुमार ने एक वाट्सअप ग्रुप बनाया
कैटरीना:- hi

प्रियंका – बोल चमेली

करीना – ha ha ha

शाहिद – hi बेबो.
करीना left

सैफअली खान left
प्रियंका – शाहिद , करीना के चमचे
शाहिद left
शाहरुख खान : – मुझे जंगली बिल्ली बहुत पसंद है.
सलमान खान : – तो जंगल मे जा हरामी.

आमिर: – मन्नत मेरे नाम कर देना
शाहरुख – चुप भिखारी
अनुष्का : – कोई लन्दन चलेगा मेरे साथ. 
अक्षय added 9991****00
अनुष्का :- ये कौन है 

 सलमान :- विराट कोहली
अनुष्का left
शाहरुख – i m second richest actor
सलमान – टाइगर जिंदा है बेटे..
आमिर – हो जाये दंगल.
दीपिका :- अक्की ये तीन फिर से चालू हो गए

अब भाई को बुला
अक्षय added प्रभास
प्रभास :- जय महिष्मति
शाहरुख left

सलमान left

आमिर left.

 *Please read*

very touching* 

____________________________

जब  बचपन  था,  तो  जवानी  एक  ड्रीम  था…

जब  जवान  हुए,  तो  बचपन  एक  ज़माना  था… !! ____________________________

जब  घर  में  रहते  थे,  आज़ादी  अच्छी  लगती  थी…

आज  आज़ादी  है,  फिर  भी  घर  जाने  की  जल्दी  रहती  है… !!

____________________________

कभी  होटल  में  जाना  पिज़्ज़ा,  बर्गर  खाना  पसंद  था…

आज  घर  पर  आना  और  माँ  के  हाथ  का  खाना  पसंद  है… !!!

____________________________

स्कूल  में  जिनके  साथ  ज़गड़ते  थे, 

आज उनको  ही  इंटरनेट  पे  तलाशते  है… !!

____________________________

ख़ुशी  किसमे  होतीं है,  ये  पता  अब  चला  है… 

बचपन  क्या  था,  इसका  एहसास  अब  हुआ  है… 

____________________________

काश  बदल  सकते  हम  ज़िंदगी  के  कुछ  साल..

.काश  जी  सकते  हम,  ज़िंदगी  फिर  एक बार…!!

____________________________
 जब हम अपने शर्ट में हाथ छुपाते थे और लोगों से कहते फिरते थे देखो मैंने अपने हाथ जादू से हाथ गायब कर दिए

|

____________________________

जब हमारे पास चार रंगों से लिखने वाली एक पेन हुआ करती थी और हम सभी के बटन को एक साथ दबाने की कोशिश किया करते थे |

____________________________

जब हम दरवाज़े के पीछे छुपते थे ताकि अगर कोई आये तो उसे डरा सके..

____________________________जब आँख बंद कर सोने का नाटक करते

थे ताकि कोई हमें गोद में उठा के बिस्तर तक पहुचा दे |

____________________________

सोचा करते थे की ये चाँद हमारी साइकिल के पीछे पीछे क्यों चल रहा हैं |

____________________________

On/Off वाले स्विच को बीच में

अटकाने की कोशिश किया करते थे |

____________________________

 फल के बीज को इस डर से नहीं खाते थे की कहीं हमारे पेट में पेड़ न उग जाए |

____________________________

 बर्थडे सिर्फ इसलिए मनाते थे

ताकि ढेर सारे गिफ्ट मिले |

____________________________

फ्रिज को धीरे से बंद करके ये जानने की कोशिश करते थे की इसकी लाइट कब बंद होती हैं |

____________________________

  सच , बचपन में सोचते हम बड़े

क्यों नहीं हो रहे ?

और अब सोचते हम बड़े क्यों हो गए ?

____________________________

ये दौलत भी ले लो.. ये शोहरत भी ले लो
भले छीन लो मुझसे मेरी जवानी…
मगर मुझको लौटा दो बचपन का सावन ….
वो कागज़ की कश्ती वो बारिश का पानी.. 

…………..

एक बात बोलु 

इनकार मत करना

ये *msg* जीतने मरजी लोगों को *send* करो

जो इस *msg* को पढेगा

उसको उसका बचपन जरुर याद आयेगा.

क्या पता वो आपकी वजह से अपने बचपनमें चला जाए. चाहे कुछ देर के लीए ही सही।

और ये आपकी तरफ से   उसको सबसे अच्छा गिफ्ट होगा.

____________________________

____________________________

*Special Doston Ko Snd Kro*

*Love you friends

Optimization WordPress Plugins & Solutions by W3 EDGE