किसानों की हड़ताल का समर्थन – Ground Live Report : Kisan Hadtal MP, Maharastra

Kisano par hui firing me 5 kisan ki maut ho gai aaj poore desh ke kisan is bat se had se jayda naraz he ander se dil dukh gaya aaj sarkar ke is kadam se, ghin hoti he ese netao se or sarkar se jo nihathhe logo ko goli mar di. Mene yaha par kuchh facebook or whatsapp se log ke reactions view collect kiya he jo me dal raha hu.

Kisano Ko Shradhanjali MP Kisan Hadtal

Kisano  Ki Jayaj Mange Jo Madhya Pradesh se Lekr Maharastra tak Kisan Mang Kar rahe he –

sabase pahale to desh ke kisan ki ek hi mang he usaki fasal ka dam uchit mile,samarthan mulya par kharidari ho or Pyaj se lekar dudh ke bhav badaye jaye, aaj ke time par desh ke kisan ko usaki fasal ka uchit mulya nai milane ke karan karj me duba hua he. Lagat he 200% and Price milata he usaka 50% bus .

किसानों की मांगे…

  1.  स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू की जाएं –  सिफारिश थी कि किसी फसल पर जितना खर्च आता है। सरकार उसका डेढ़ गुना दाम दिलाना तय करे।
  2. देश की सभी कृषि उपज मंडियों में भारत सरकार द्वारा घोषित समर्थन मूल्य से नीचे फसलों की बिक्री न की जाए।
  3. आलू, प्याज सहित सभी प्रकार की फसलों का समर्थन मूल्य घोषित किया जाए। आलू, प्याज की कीमत 1500 रुपये प्रति क्वंटल हो।
  4. सभी किसानों के कृषि ऋण माफ किए जाएं।
  5. भारत सरकार के भूमि अधिग्रहण अधिनियम 2013 को यथावत रखा जाए। अधिनियम के मुताबिक, ग्रामीण क्षेत्र में गाइडलाइन का चार गुना और शहरी क्षेत्र में दो गुना मुआवजा दिया जाए।
  6. महंगाई को देखते हुए मध्यप्रदेश में दूध उत्पादक किसानों को 52 रुपये प्रति लीटर दूध का भाव तय हो और भाव तय करने का अधिकार किसानों को मिले।
  7. दूध, दूध पाउडर और अन्य उत्पादों पर निर्यात सब्सिडी पुन: शुरू की जाए।
  8. फसलीय कृषि ऋण की सीमा 10 लाख रुपए की जाए। वसूली की समय-सीमा नवंबर और मई की जाए।
  9. भारत में डॉलर काबुली चना सिर्फ मध्यप्रदेश में ही पैदा होता है। उसका बीज प्रमाणित कर समर्थन मूल्य घोषित किया जाए। इससे भारत सरकार को विदेशी मुद्रा अर्जित होती है।
  10. खाद, बीज और कीटनाशकों की कीमतों को नियंत्रित किया जाए।
  11. एक जून से शुरू किसानों के असहयोग आंदोलन में गिरफ्तार सभी किसानों को बिना शर्त रिहा किया जाए।
  12. 60 साल के उम्र वाले किसानों को पेंशन दी जाए
  13. खेती के लिए बिना ब्याज के कर्ज मिले.

Me aapko batata hu Pyaj Ki Keemate kam mlane se kaise kisan nuksan me he , ye he ek Rajasthan ki Kisan KeMuh se batayi hui Pyaj ke Bhav ke abre me kaise nukasan ho raha he –

 This is real situation at ground level.

कृषि मन्त्री जी, प्रधानमत्रीं जी, मुख्यमंत्री जी
मै आसुराम गोदारा गाँव पलाना बीकानेर राजस्थान से एक किसान हूँ
मेरा सवाल हैं कि जब प्याज महंगा होता है तो शहरी लोगों को सस्ता देने केलिए सभी राजनीतिक पार्टियों के लोग दुकान लगाकर प्याज बेचते हैं वह प्याज कहां से आता है? अगर बाजार से खरीदते हो तो महंगा खरीद कर सस्ता कैसे दे सकते हो? बाकी पैसा कहां से आता है? आज किसान मर रहा है क्योंकि प्याज की लागत ₹5 किलो आती है और प्याज बाजार में तीन रुपए किलो बिक रहा है तो आप लोग अब कहां हो किसान से प्याज क्यों नहीं खरीदते या आपकी बीमा पॉलिसी में यह स्कीम क्यौ नहीं है कि भाव लागत मूल्य से कम हैं तो उसकी भरपाई हो?
मेरे पास 3ऐकड़ जमीन हैं उसमें प्याज लगाया था जिसका खर्च आय इस प्रकार है –
ट्रेकटर जूताई। – 4500 ₹
बीज 17किलो ×2200 = 37400
पौध रोपाई मजदूर खर्च 100 × 250 =25000
खाद व किटनाशक -6500
बिजली बिल 6 महीने का – 24500
अब फसल कटाई – 20000
कुल खर्चा =117900

पैदावार हूई हैं 25000 kg ×3= 75000 – 117900 = 42900 ₹ शुद्ध घाटा
इसमें मेने जो पानी लगाया रखवाली की उसका कोई चार्ज नहीं जूड़ा हैं
अब तीन लाख बैंक का कर्ज हैं उसका भी ब्याज देना हैं नहीं तो…………
अब बताये किसान क्या करें????
इसमें झुठ या बढा चढाकर कुछ नही बताया है आप आ के देख सकते हैं
आसूराम गोदारा किसान गाँव पलाना बीकानेर राजस्थान “

Facebook, Whatsapp and Twitter par Logo ka Gussa

  1. अन्दाता पर गोली चली है ? पूरा भारत भूख से जल से थल से गगन से मिट जायेगा? – Ek Kisan
  2. किसानो की अपना पैदा किया हुआ अन्न, उसकी खुद की जमीन तो उसकी –
    रह नही गयी और अब किसानो की जान भी खुद की नहीं रह गयी है! बड़ी ही निंदनीय घटना है, हम किस जनतंत्र की बात करते है जिसमे एक किसान खुद अपने कमाई के उचित दाम लिए भीख मग रहा है और बदले मे उसे गोलिया मिल रही है….माननीय सीएम साहब Shivraj Singh Chouhan ji जरा सोचिए किसान के हित मे निर्धारित नीतिया केवल चुनाव घोषणा पत्र तक ही सीमित ना रह जाये….
  3. भाजपा सरकार सिर्फ किसानो की वोट से बनी है?
    जिस थाली में खाया उसी में छेद?
  4. यदि सरकार को पैसा किसानो के शहिद होने पर या फांसी लेने पर देते है यदि सभी किसान कर्ज के बोझ के तले,फसल का सही मुल्य नही मिलने से किसान आदोंलन कर रहा है तो इसमे भी आरोप प्रत्यारोप कर रहे हैं यदि इसी प्रकार आरोप प्रत्यारोप करना हे तो पुरे प्रदेश के किसानो पर गोली ंचला दिजये और बाद मे किसानों की मोत पर सभी को 10 लाख रुपये नामक मरहम लगा देना जिससे आपकी राजनिती की रोटी जरुर पक्क जायेगी इस पोस्ट को इतना सेयर करो की 125करोड लोगों के पास पहुच जाये जय किसान जय अन्नदाता जय भुखे प्यासा रहकर देश के लिये कमाने वाले की जय राजाभोज.
  5. दो पल मे किसानो को मार दी गोली उन हुक्मरानो ने ..
    जिन्हे सालो लग गये थे अफ्जल को दोषी ठहराने में।।
    😥😥😥😥
    सालो ने गोली मार दी।। कश्मीर के पत्थरबाज तुम्हारी माँ के यार हे क्या
  6. ये सभी अपनी औकात भूल गए पाकिस्तान वालों को मारने के लिए परमिशन नही मिली और किसान को मारने के लिए तुमहारे बाप ने परमिशन दी थी क्या
  7. Sehore se Rajesh Sharam likhate he  –
    किसानों धरतीपुत्र हो लड़ जाओ अार-पार की लड़ाई,राजनीति मुझे आती नहीं,मैं बचपन से ही इससे घबराता हूँ।
    मेरा जिस्म गोली खाने के लिए बेताब है।
    बंदूक वालों से कहना तैयारी रखें आ रहा है हमारा बच्चा!
    हम बताएंगे आजादी दर-असल होती है क्या ?
    चाटुकारों से घिरा शिवराज, ये कैसा राज ,
    प्रजातंत्र या कन्वर्टेड राजतंत्र ? बहुत दे दिया अवसर जनता ने __तुम हो गए बेलगाम और चापलूसों के गुलाम, मैं सत्ता का स्थाई विपक्ष हूँ ___बोलूंगा__मूंह खोलूंगा__ये मेरा धर्म-कर्तव्य है इसे नहीं छौड़ूगा
    मार दो किसानों को ___क्या जीवित रह पाओगे ज़नाब ? रहे तो भी “मामा” नहीं “मरे” से कहलाओगे – – – सत्ता तुम्हारी शून्य हो जाएगी ——मंजूर हो __तो चलते रहो __जैसे चल रहे हो साहब____राजेश

  8. छाती ठाेक कर वादा करने वालाे ने छाती पर ही गाेली चलवा दि साहब किया हाेगा अब देशका – Arun Parmar Ashta se
  9. अभी-अभी मैंने सुना है कि मध्यप्रदेश के मंदसौर में शांतिपूर्वक प्रर्दशन कर रहे किसानों को गोलियां चलाकर मारा गया है… मैं इस घटना को सुनकर सदमें में हूं… क्योंकि सभी को पता है कि किसान इस देश का पेट भर रहे है ओर किसान के बेटे सीमा पर इस देश की रक्षा कर रहे है तो कुछ इस देश के अंदर पुलिस प्रशासन जैसे विभागों में पदासीन होकर भी इस देश की रक्षा कर रहे है… जो किसान के बेटे सीमा पर है वो इस देश के खातिर अपनी ज्यान देकर भी “लायक” नहीं बन पाते… मगर जो किसान के बेटे पुलिस विभाग में है वो अपने बाप (किसान) पर भी गोली चलाकर “नालायक” बन जाते है, कहने को तो उनको अपने हुक्मरानों से ऐसे गंदे आदेश मिलते होगें…मगर समझ तो होनी चाहिए के ये आदेश है या फिर अपने बाप की हत्या… खैर… बदल तो सब कुछ रहा ही है मगर मैं सुन रहा हूं कि मेरा देश बदल रहा है…!
    अब गर बात करें असली हत्यारों कि या कहूं इस देश के हुकुमरानों कि तो… बात सांमती-काल की करें तो किसानों पर शोषण था, बात अंग्रेजी जमाने की करें तो किसानों पर शोषण था, बात आज से हजार साल पहले की कर लो या फिर आज कि कर लो… किसानों पर शोषण पहले भी था ओर आज भी है…!
    ओर एक बात पिछले दिनों सुनने में आ रही थी कि इस देश का हुकुमरान यहां दस लाख तालाब बनवा रहा है… क्या जरूरत थी जनाब… डूब मरने के लिए तो चूल्लू भर पानी ही काफी होता है…!!!

    #शहीद_किसानों_को_कोटी_कोटी_नमन

    जय हिन्द
    जय जवान जय किसान
    कुम्भाराम जाखड़
    सातलेरा

    10.

    गोली मारने की क्या जरूरत थी..

    किसान तो पहले ही मरा हुआ है…
    #blackday😢😢😢

    11. मंदसौर में आंदोलनरत किसानों पर चली गोली, 5 किसानों की मौत ।
    -आर्डर देने का काम , चुनाव में जीते जनप्रतिनिधि का
    -आर्डर लेने और उसे अमल में लाने का काम किसी “प्रतिभाशाली” छात्र का जो कभी UPSC की सिविल सर्विस परीक्षा में उत्तीर्ण होकर पुलिस महकमे का आला अफसर बना होगा/होगी । चिंता न करें, उसकी गलती नहीं है, वह तो “ईमानदारी” से बस अपने आकाओं की ड्यूटी बजा रहा/रही है उस राज्य की सेवा में जिसने उसे जनांदोलनों को कुचलने, मज़दूर किसान पर लाठी गोली चलवाने और लूट पर टिकी इस व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए चुना है ।
    आप क्या सोच रहे थे, उसकी प्रतिभा का “देशसेवा” हेतु इस्तेमाल करने के लिए परीक्षा ली गई थी, क्या वह “जनकल्याण” के लिए घिस घिसकर रट्टू तोते की तरह प्रतियोगिता गाइड्स चाट रहा था ? अरे भैया, गलतफहमी से बाहर निकलो, वह तो “बेचारा” राज्य के “सुपारी किलर” का काम करने हेतु परीक्षा में चयनित हुआ था, जिसके एवज में उसे जनता के खून पसीने को चूसकर निचोड़े गए पैसे, रुतबे, सम्मान, पोजीशन और परजीवी सुख सुविधाओं से राज्य द्वारा नवाजा गया था ।
    अब राज्य का वह सुपारी किलर , निजी जीवन में कितना ईमानदार या कितना घूसखोर रहा हो , इससे क्या फर्क पड़ता है ? उसका काम था आर्डर बजाना, किसानों पर गोली चलाना जो इसने चला दिया ।

    12. कितने दुख की बात है कि आज मध्यप्रदेश में आंदोलनरत किसानों पर गोली चला कर पांच किसानों को मौत के घाट उतार दिया गया है. किसानों की जान की कीमत भी साथ साथ लगा दी गई. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये मुआवजा दिए जाने की घोषणा कर अपने कर्तव्य की इतिश्री कर ली है.
    दोषी कौन है यह बताइए बगैर ही मुआवजा दे दिया तो इसका मतलब सरकार दोषी है तो मुख्यमंत्री पर हत्या का मुकदमा दर्ज क्यों नहीं हो रहा????
    अगर सरकार दोषी नहीं है तो मुआवजा किस बात का दे रहे हैं???

    13. आज मंदसौर में मामा जी की तानाशाही सरकार ने अपना तानाशाही रवैय्या अपनाया और प्रदर्शन कर रहे किसानों के सीने पर गोली चला दी सुचना मिली है कि 2 किसानों की मौत हो गई और अन्य लोग घायल हो गए है शर्म करो शवराज सरकार आप भी एक किसान पुत्र हे (आपके कहे अनुसार ) आप कहते हे में अन्नयदाताओ का सम्मान करता हु यह केसा सम्मान हुआ किसान अपना हक मांग रहे हे और आपका प्रशाशन हम पर गोलियां चला रहां हे यह केसा सम्मान हे ।
    में गजराज परमार एक किसान सरकार और प्रशाशन के इस जघन्य अपराध की घोर निंदा करता हु और साथ ही ईश्वर से प्रार्थना करता हु की ईश्वर उन किसानों की आत्मा को शांति प्रदान करे और गूंगी बहरी निर्लज्ज सरकार को सद्बुद्धि प्रदान करे।

  10. जिसने मांगी रोटी
    उन्हें मिली गोली
    अब नही चलेगी शिवराज मामा
    तेरी गुंडा गर्दी
    ये वो किसान हे जिन्होंने अपने हक के लिये खून कि नदी वहाई अब हमे (किसान )इन किसान सपूतो का बदला मामा शिवराज से 2018 मे नयी सरकार बना कर लेना है
    जय जवान जय किसान भारत माता की जय
  11. firing on farmers

Kisan Hadtal Messages jo facebook whtsapp par viral ho rahe the madsaur firing se pahale

  1. दूध वाले #हडताल करते हें तो #दूध सडक पर फेंकते हें..
    #टमाटर वाले हडताल करते हें तो टमाटर #सडक पर फेंक देते हें
    #प्याज वाले हडताल करते हें तो प्याज सडक पर #फेंक देते हें
    न जाने #bank को कब अक्ल आएगी?😛😄😄😄😄
    kisan hadtal
  2. शोक नहीं मजबुरी है,
    अब हड़ताल जरूरी है।
    किसान भाइयों अभी नही तो कभी नहीं… यह हड़ताल सिर्फ अपने हक के लिये है न की किसी पार्टी विशेष के खिलाफ।
    सरकारें तो हर 5 साल में आती जाती रहेंगी…हमें जीवन भर खेती करना है……आओ ओर दिखाओ अपनी ताकत ताकी उन्हें भी पता चले की देश की 65% आबादी जब ठान ले तो क्या कर सकती है।
  3. व्यापारी का पानी 20 रू लिटर , किसान का गेंहू 15 रू किलो ,भयानक सत्य😢😥
  4. जो लोग होटल मे, शादियो मे आधी से अधिक सब्जी और खाना फेकने के लिए छोड आते है वो आज किसान को अन्न के अपमान का ज्ञान दे रहै है…
  5. मंडियां खाली हैं…..
    🤜दूध/फल/सब्ज़ी की बिक्री बंध….
    अब भाजपा समर्थक मुझे लिख रहे है की दूध फैकना गलत है…….कमाल है…..जब किसान फांसी पर झूल रहा होता है…तब इन्हें दर्द नहीं होता…..अब दूध बर्बादी का दर्द हो रहा है….. #farmer_mankisan hadtal mp
  6. जो किसान हित की बात करेगा,,
    वही देश पर ##राज करेगा,,
    जय जवान जय #
    #किसान.
  7. महाराष्ट्र में किसानों ने सब्ज़ी/फल/दूध शहरों में बेचना बंद किया…………….मंडियों का बहिष्कार भी शुरू…बढ़िया होगा की घंटी बज जाए सरकार की और किसानों की जायज मांगे इज्जत से मान ले…..नहीं तो फिर अगली बार धमाका ही करना होगा….बहरों को सुनाने के लिए………….
  8.  
  9.  Farmers Hadtal June 2017, Kisan Hadtal, Kisan Andolan
  10. farmer hadtal mp
  11. उसके हिस्से तमाम खुशियाँ ,मेरे हिस्से में दर्द का सागर
    मेरी-उसकी बराबरी कैसी, मैं फरिश्ता हूं वो है सौदागर
    Kisan Hadtal Live
  12. किसानो की हड़ताल की ये मांगे क्या गलत हैं??क्या इनको माना नहीं जा सकता?लेकिन सरकार टकराव चाहती हैस्वामीनाथन रिपोर्ट की सिफारिश लागू की जाये

    2)60 साल के उम्र के किसान को पेंशन मिले

    3)खेती के लिये बिना ब्याज कर्ज मिले

    4)किसानो के कर्ज माफ़ हो

    5)दूध के लिये प्रति लीटर 50₹ मिले

    Indian Farmers- Mere Desh Ka Kisan

    Kisan Hadtal MP

    mere desh ka kisan indian farmer

    Mere Desh ke Kisan Ki Asali Halat