Mastar Ji Patni Par Nibandh Likho ! कसम से बहुत हँसोगे

​कसम से बहुत हँसोगे

मास्टर जी – *पत्नी पे निबन्ध लिखो ❓* 

                                         छात्र – *पत्नी पर निबंध*
Answer – पत्नी नामक प्राणी भारत सहित पूरे विश्व में बहुतायत पाए जाती है।
प्राचीन समय में यह भोजन शाला में पायी जाती थी, लेकिन वर्तमान में यह *शॉपिंग मॉल्स , थिएटर्स  एवं रेस्तरा* के नजदीक विचरती हुई अधिक पायी जाती है।
पहले इस प्रजाति में *लम्बे बाल, सुन्दर आकृति* प्रायः पाये जाते थे। लेकिन अब *छोटे बाल, कृत्रिम श्वेत मुख, रक्त के सामान होठ* सामान्य रूप से देखे जा सकते है।
इनका मुख्य आहार पति नामक मूक प्राणी होता है। भारत में इन्हें *धर्मपत्नी, भाग्यवती, लक्ष्मी* नामो से भी जाना जाता है।
*अधिक बोलना, अकारण झगड़ना, अति व्यय करना*, इस प्रजाति के मुख्य लक्षणों में से है। हालाकि इस प्रजाति पर सम्पूर्ण अध्ययन करना संभव नहीं है, किन्तु सामान्यतः इनके निम्न प्रकार होते है।
1. *सुशील पत्नी*– यह प्रजाति अब लुप्त हो चुकी है। इस प्रजाति की प्राणी सुशील एवं सहनशील होतीे थी और घरो में ज्यादा पाये जाते थीे।
2. *आक्रामक पत्नी* – यह प्रजाति भारत सहित पूरे विश्व में बहुत अधिक मात्रा में पायी जाती है। ये अपनी आक्रामक शैली, एवं तेज प्रहार के लिए जानी जाती है। समय आने पर ये *बेलन, झाड़ू और चरण पादुकाओँ* का उपयोग अधिक करती है।
3. *झगडालू पत्नी* – यह प्रजाति भी वर्तमान में सभी जगह पायी जाती है। इन्हें जॊर से बोलना और झगडा करना अत्यंत पसंद होता है। इनका अधिकतर सामना *“सास”* नामक एक और अत्यंत खतरनाक प्राणी से होता है।
4. *खर्चीली पत्नी* – भारत जैसे गरीब देश में भी पत्नियों की ये प्रजाति निरंतर बढती जा रही है। इनकी मुख्य आदतों में क्रेडिट कार्ड रखना, *बिना विचार किये खर्च करना और बिना जरूरत वस्तुए खरीदना* है। इस प्रजाति के साथ पति नामक प्राणी को चप्पल में थका हुआ पीछे पीछे घूमते देखा जा सकता है।
5. *नखरीली पत्नी* – इस प्रजाति के प्राणी अधिकतर आइने के सामने देखी जाती है। इनके *होठ रक्त के सामान लाल, नाख़ून बड़े बड़े, केश सतरंगी और चेहरा श्वेत पाउडर* से लिपा होता है। इन्हें भोजन शाला में जाना और काम करना नापसंद होता है।
*चेतावनी*– पति नामक प्राणी के लिए इस प्रजाति के प्राणी अत्यंत खतरनाक व आक्रामक होते है। इन्हें समय-समय पर साड़ी, गिफ्ट्स, फ्लावर्स तथा करवा-चौथ के सुअवसर पर गहना इत्यादि के द्वारा नियंत्रित किया जा सकता है । लेकिन सनद रहे– केवल कुछ समय के लिए।
बीवियों के प्रकार

1. *आलसी बीवी* :::::::::::::

खुद जाकर चाय बना लो और एक कप मुझे भी दे देना …

2. *धमकाने वाली बीवी* ::::

कान खोलकर सुन लो , या तो इस घर में तुम्हारी माँ रहेगी या मैं …

3. *इतिहास-पसंद बीवी* ::::

सब जानती हूँ तुम्हारा खानदान कैसा है …

4. *भविष्य-वाचक बीवी* :::

अगले साथ जन्मो तक मेरे जैसी बीवी नहीं मिलेगी …

5. *भ्रमित बीवी*:::::::::::::

तुम आदमी हो या पजामा ?

6. *स्वार्थी बीवी* ::::::::::::

ये साड़ी मेरी माँ ने मुझे पहनने को दी है तुम्हारी बहनों के लिए नहीं ..

7. *शक्की बीवी* :::::::::::::

मेरी कौन सी सौतन से फ़ोन पर बात कर रहे थे ?

8. *अर्थशास्त्री बीवी* :::::::::

कौन सा कुबेर का खजाना कमा ले आते हो जो रोज़ पनीर खिलाऊ ?

9. *धार्मिक बीवी* :::::::::

शुक्र करो भगवान् का जो मेरे जैसी बीवी मिली …

10. *सबकी बीवी*:::::::::::::

मेरे नसीब में तुम ही लिखे थे

Optimization WordPress Plugins & Solutions by W3 EDGE